देवनागरी में लिखें

                                                                                             देवनागरी में लिखें

Thursday, 27 October 2011

" भाई - दूज "

दिवाली बीत गई... ?? नहीं.... !! 
बता गई ,कितनी भी अंधेरी रात हो , 
एक दिये की बाती उसे हरा सकती है.... !!
जगह बना गई ," भाई - दूज " के आने के लिए.... :)
 वो तो फिर अगले वर्ष आएगी.....
भाई - बहन का पवित्र रिश्ता ,जैसा...
          दूसरा कोई नहीं.... !!
 " भाई दूज के अवसर पर सभी भाइयों को प्यार.... :):) "

6 comments:

यशवन्त माथुर (Yashwant Mathur) said...
This comment has been removed by the author.
यशवन्त माथुर (Yashwant Mathur) said...

आपको भी भाई दूज और चित्रगुप्त पूजा की हार्दिक शुभकामनाएँ!

सादर

mridula pradhan said...

'vatbrikch'se aap tak pahunchi....bahot achcha laga.

रश्मि प्रभा... said...

पवित्रता बनी रहे ....

सदा said...

शुभकामनाओं के साथ बधाई ।

वन्दना said...

bhaidooj ki badhayi