देवनागरी में लिखें

                                                                                             देवनागरी में लिखें

Friday, 2 March 2012

" हक़ है पगलाने का .... 2"

                               

आज..... फिर….. एक बार.....  अपने बेटे की कामयाबी या यूँ कहे उपलब्धि लेकर आपके सामने हाजिर हूँ.... :) आज.... वो अपने मनपसंद कार्य  को पागया.... वो "ERNST & YOUNG" में ज्वाइन कर लिया.... आज से दो-ढाई साल पहले....एक दिन शाम में वो फ़ोन किया :- माँ मै अपने को ,"इनफ़ोसिस" से निकाल दिए जाने के लिए,इसके ट्रेनिंग एग्जाम में अपने को फेल करने  जारहा हूँ.... मैं.."इनफ़ोसिस" में कार्य नहीं करूंगा.... मै :- अगर कार्य नहीं करना है , तो रिजाइन कर दो ,फेल क्यों होना.... ? बेटा :- रिजाइन करूंगा तो बहुत रुपया देना होगा ....  उतना रुपया मेरे पास नहीं है ,और पापा न इजाजत देगें न रुपया.... मेरी उलझन मैं  समाज - परिवार.... उससे भी बढ़ कर उसके पापा जो पहले से उससे नाराज ,"बेटा "IIT" जो नहीं कर पाया था"..... किसको-किसको समझा पाती मेरा बेटा फेल होकर,"इनफ़ोसिस" से  निकला है.... खैर मैं उसीको समझाई और वो किसी तरह  अपना आज तक कार्य सम्पादित  किया.... जिस बेटे को लेकर………. ,
कभी "एम्स - दिल्ली""लखनऊ""पटना""रांची""दरभंगा""छपरा""मुजफ्फरपुर""सिवान””रक्सौल”” मोतिहारी”....  जो जहाँ बता देता कि चाइल्ड (specialist) डाक्टर हैं…. हर महीने दौड़ती रही....16सालो तक.....  दूसरा  सहारा(मंदिर-मस्जिद,पूजा-पाठ,यज्ञ-हवन,झाड़-फूंक) नहीं ले सकती थी..... एक दिन उम्मीद  टूटती नजर आ रही थी..... मन बहुत बेचैन था..... मन कर रहा था कोई तो सहारा बने.... आज कोई मनौती मान ही लेती हूँ.... लेकिन दिमाग कह  रहा था मनौती फिर उतारोगी कैसे..... ? अगर भगवान् हैं..... सभी की आवाज वे सुनते है.... तो मेरी मन से पुकारी आवाज जरुर सुनेगें और उन्हें सुनना पड़ा….. अपने पति से पूछी आपको भगवान् से दुश्मनी क्यों है..... ? वे बोले :- दुश्मनी नहीं है.... कभी दोस्ती नहीं हूई.... कहते हैं  भगवान् के मर्जी के बिना एक भी पत्ता नहीं हिलता तो उनकी मर्जी ही रही होगी जो मेरे जैसे  भक्त की जो उनकी उपस्थिति को महसूस करती है एक ऐसे इंसान से शादी हो जाना जो  उनसे दोस्ती नहीं कर सका….. ( जिस समय अजहरुदीन का बेटा एक मोटरसाईकिल से दुर्घटना में  मृत्यु हुई…. उससे कुछ दिन पहले मेरे बेटे का भीमोटरसाईकिल से दुर्घटना हूआ था वो भी उस समय  जब दूर-दूर तक कोई नहीं था वह खुद उठा ,मोटरसाईकिल उठाया और 100km  दूर जाकर  अपना  इलाज करवाया…. ये नहीं समझियेगा हल्का रहा होगा….. शरीर पर बने निशाँ कहानी  बता  सकेगें.... 6 टांके के निशाना नहीं गये है "खैर....  … भगवान् ही तो सहायक होते हैं…. :) …..समय कोई भी हो (सुख या दुःख)रुकता नहीं है.....  धैर्य.... धैर्य....धैर्य.... और बस धैर्य....धैर्य....धैर्य.... J आज का दिन देखना मेरे नसीब में भी था और आपसे - आपसबों से अपने बेटे के लिए  आशीर्वाद भी लेनी थी.... J 
                      

                      " आज मेरे लिए दिन होली रात दिवाली है ... " 


***********************************************************************                     
                        

20 comments:

वाणी गीत said...

साहस की बात है !
बधाई !

रश्मि प्रभा... said...

उपरवाले का आशीष , और अपना हौसला आकाश भर भर खुशियाँ ला रहा है - रास्ते बनाने ही पड़ते हैं और जब बनते जाते हैं तो फिर मन गाता है - ' फुर्रर्रर उड़ चला हवाओं के संग दिल जाने किधर .... ' .

यशवन्त माथुर (Yashwant Mathur) said...

भैया और आपको बहुत बहुत बधाई आंटी!

सादर

मत बाँटों इंसान को said...

bahut bahut badhaiyan avam shubhkamnaye :)

अनुपमा पाठक said...

ईश्वर कभी अपने प्रिय भक्त को निराश नहीं करते... हाँ, कभी कभी परीक्षा की घड़ियाँ लम्बी हो जाती हैं!
आपको गर्वान्वित होने के ऐसे कई और अवसर दे ज़िन्दगी!
शुभकामनाएं!
सादर!

sangita said...

बहुत बहुत बधाई,शुभकामनाएं!
सादर!

भावना said...

AAPKO BAHUT BAHUT BADHAI ,AAPKA HAR DIN HOLI AUR HAR RAAT DIWAALI HO BAS YAHI KAAMNA HAI.

dheerendra said...

विभा जी,.. बहुत बहुत बधाई,.....

आप्का फलोवर बन गया हूँ आप भी बने तो मुझे खुशी होगी,...

पोस्ट पर आने के लिए ...आभार

भूले सब सब शिकवे गिले,भूले सभी मलाल
होली पर हम सब मिले खेले खूब गुलाल,
खेले खूब गुलाल, रंग की हो बरसातें
नफरत को बिसराय, प्यार की दे सौगाते,

NEW POST...फिर से आई होली...

शिवम् मिश्रा said...

आप सब को बहुत बहुत हार्दिक बधाइयाँ और शुभकामनाएं !

जयकृष्ण राय तुषार said...

विभा जी होली की शुभकामनायें

Madhuresh said...

Bilkul sahi kaha aapne. Dhairya ho to antatah lakshya mil hi jata hai.. Bahut badhaiyan bhai ko, apne sapno ko paane ke liye...

सदा said...

बधाई सहित शुभकामनाएं ।

expression said...

विलम्ब के लिए क्षमा...

ढेर सी बधाई एवं आशीष....

Rajput said...

आप को हार्दिक बधाइयाँ और शुभकामनाएं .

Vijay Kumar Sappatti said...

भगवन सभी के साथ होते है . आज आपके परिवार में जो खुशी है , वो भी प्रभू जी की ही दें है . लेकिन , मैं आपके साहस की तारीफ करूँगा .
hats off to you madam !

DINESH PAREEK said...

बहुत बहुत बधाई,शुभकामनाएं!
पर किसकी दू होली की या दिवाली की ये समझ में नहीं आ रहा है मेरे

Rewa said...

sabse pehle dhero shubkamnayein.....mujhe bahut shakti mili ye padh kar.....

Reena Pant said...

विभाजी आपको पता है जो काम घर पर रहकर महिलाएं करती है वो ज्यादातर हम कामकाजी महिला नहीं करती इसलिए आप असाधारण है साधारण नहीं .बहुत अच्छी दिल को छु लेने वाली पोस्ट.मेरे भाई के साथ भी हैदराबाद में एक हादसा हुआ था इश्वर की कृपा से अब वह बहुत बेहतर हालत में है.आखिर हमे इश्वर की हर इच्छा का आदर करना पड़ता है ......आप हिम्मती है इस हिम्मत को बनाये रखे .....

Neelima said...

आप एक माँ हैं और माँ होना सबसे बड़ा काम ... आपको बहुत साडी शुभकामनाये ..

तुषार राज रस्तोगी said...

माँ महबूब खुश रहे, स्वस्थ रहे, भोले नाथ की कृपा सब पर बनी है | संतान एक बार जन्मदाता को भुला सकती है पर वो संतान को कभी नहीं भुला सकते | मेरा अटूट विश्वास है वो सदा उसके साथ रहेंगे | हर हर महादेव | मेरी शुभकामनायें उसके साथ हैं | आपने सही कहा बस धैर्य ही रखना है अब तो |